नगरनिगम कर्मचारी को थप्पड़ मारने के पिछे राजनीति-रिपोर्ट दर्ज

विरेन्द्र चौधरी/इरशाद खान

सहारनपुर। नगर निगम के विधुत विभाग में कार्यरत संजय भटनागर को महिला द्वारा तमाचा मारने और कागज़ फाड़ने की घटना से जहां निगम में खलबली मची है वही इसे निगम में कर्मचारियों की चल रही आपसी राजनीति से जोड़कर भी देखा जा रहा है। निगम में आयुक्त से लेकर छोटे कर्मचारी तक सब भ्रष्टाचार के आरोपो में डूबे हो तो किसको पाक साफ बताये?
बताया जा रहा है कि इन दिनों निगम में राजनीति पूरी चरम पर है । बताया जा रहा है कि आरटीआई एक्टिविस्ट ने रिकार्ड रूम में कार्यरत मुकेश कुमार जाट और गैराज में कार्यरत संत कुमार की सूचनाये मांगी हैं। सूचना में कुछ ऐसे मुद्दे उठाए गए हैं जिससे निगम में भूचाल तक आ सकता है। आरोप तो ये भी है कि उक्त सूचना के चलते ही महिला को विभाग में अराजकता फैलाने के लिए षड्यंत्र के तहत भेज गया था। लोग तो यहां तक कह रहे है कि महिला द्वारा संजय को थप्पड़ मारना भी इसी कहानी का हिस्सा है, क्योंकि घटना के बाद तुरन्त वीडियो वायरल भी कर दिया गया, जिसमें पूरे नगर निगम का मजाक उड़ रहा है। अभी तक प्राथमिकी दर्ज नही हो पाई है।महिला का कहना है कि वह कई बार काम के संबंध में चक्कर काटती रही है लेकिन सुनवाई नही हो पाई है। संजय भटनागर का ये कहना कि उसने उक्त महिला को देखा भी पहली बार है और वह उसका नाम भी नही जानते है। इस संबंध में प्रशासनिक स्तर पर पूरी रिपोर्ट तलब किये जाने और वास्तविक दोषियों की जानकारी भी मांगी गई है।

महिला के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज 

निगम में कर्मी को थप्पड़ मारने वाली महिला आम आदमी पार्टी महिला मोर्चा की स्थानीय अध्यक्ष है जिसके विरुद्ध संजय भटनागर ने थाना कुतुब शेर को तहरीर दी है। बताया गया है कि उसका नाम सुषमा है और वो राधा विहार में रहती है, समाचार के बाद से से ही उसका नम्बर आउट ऑफ रेंज जा रहा है, जिसके चलते कारण साफ नही हो पाए है।

निगम कर्मी संजय भटनागर को थप्पड़ मारने वाली महिला की फोटो को पीड़ित ने पहचान लिया है और इसकी पुष्टि भी हो गयी है जबकि थाने में दर्ज प्राथमिकी में सरकारी काम मे बाधा डालने, अभद्रता करने जैसी संगीन धराये भी लगाई गई है।

 

News Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *